©2019 by Jankriti. Proudly created with Wix.com

Publication Ethics

अकादमिक क्षेत्र में गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए जनकृति में प्रकाशित होने वाले शोध आलेखों का चयन विभिन्न स्तर पर किया जाता है। इसके लिए शोध विषय की नवीनता, मौलिकता, तथ्य के स्रोत एवं उनके मूल्यांकन, अंतरराष्ट्रीय शोध मानक के अनुरूप शोध प्रारूप इत्यादि बिन्दुओं के आधार शोध आलेखों का चयन किया जाता है। 

Role of The Authors, Editors, Reviewers

Role of the Author लेखकों की भूमिका 

लेखक द्वारा मौलिक शोध लेखन होना चाहिए साथ ही शोध में उद्धृत संदर्भों का स्पष्ट विवरण होना आवश्यक है। लेखकों को अनुसंधान कार्य में नवीन विषयों, नवीन दृष्टिकोण का ध्यान रखना चाहिए। लेखकों को मूल शोध से संबन्धित पूर्व कार्यों का उल्लेख शोध पत्र में किया जाना चाहिए महत्वपूर्ण योगदान देने वाले सभी व्यक्तियों को सह-लेखक के रूप में शामिल किया जाना चाहिए। 

Role of the Editors संपादकों की भूमिका 

संपादकों की भूमिका पत्रिका हेतु प्रस्तुत पाण्डुलिपि की मौलिकता एवं गुणवत्ता देखने के लिए है साथ में यह 

​सुनिश्चित करना है कि पत्रिका में प्रकाशित होने वाली सामग्री पत्रिका के उद्देश्य के अनुरूप हो। साहित्यिक चोरी संबंधी समस्याओं का निवारण करना और कार्यवाही करना संपादक का कार्य है।   

Role of the Reviewers

समीक्षकों की भूमिका 

संपादकीय निर्णय लेने में सहायता करने और पांडुलिपि सुधार में लेखकों की सहायता करने के लिए पत्रिका के लिए पीयर समीक्षा आवश्यक है। समीक्षकों को पांडुलिपि में उद्धृत प्रासंगिक प्रकाशनों को इंगित करना चाहिए और पहले प्रकाशित कार्यों के साथ किसी भी समानता को इंगित करना चाहिए। समीक्षकों को पाण्डुलिपि संबंधी गोपनियता को बनाए रखना आवश्यक है। प्रत्येक पाण्डुलिपि में विषयानुरूप सुझाव अपेक्षित है। यदि एक संभावित समीक्षक पांडुलिपि की समीक्षा करने के लिए अयोग्य महसूस करता है, तो उस समीक्षक को संपादकों को तुरंत सूचित करना चाहिए और समीक्षा को अस्वीकार करना चाहिए।